Asian Games

फराटेदार ‘संस्कृत’ बोलते हैं सिल्वर मेडल विजेता दीपक कुमार, जानिए उनसे जुड़े मजेदार रोचक तथ्य

नई दिल्ली: इन दिनों एशियन गेम्स 2018 का सुरूर लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है. सोमवार को निशानेबाज दीपक कुमार ने 10 मीटर एयर राइफल में सिल्वर मेडल जीतकर भारत की शोभा बढ़ाई. अब भारत के नाम पदों की संख्या बढ़कर 5 हो चुकी है. आपको बता दें कि चीन के यंग होरोन ने 249.1 के साथ गोल्ड मेडल जीता वहीं दीपक का स्कोर 247. 7 रहा. दो सीरीज के बाद भारत के रवि कुमार तीसरी और दीपक कुमार पांचवी पोजीशन पर थे. ऐसे में रवि कुमार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन दीपक कुमार ने शानदार प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया. चलिए दीपक कुमार से जुड़े कुछ रोचक तथ्य के बारे में जानते हैं-

  • आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दीपक किसी अंग्रेजी स्कूल में नहीं पड़े बल्कि उन्होंने ग्रुप में से शिक्षा हासिल की है.
  • किसी भी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी का गुरुकुल से शिक्षा हासिल करना सच मे बड़ी बात है.
  • आप को बता दे दीपक के मां-बाप ने उन्हें देहरादून के गुरुकुल अकादमी में भेजा था यहां पर उन्होंने संस्कृत भाषा सीखी.

  • भारत को मेडल दिलाने वाले दीपक कुमार संस्कृत बोलते हैं. हाल ही में एक मीडिया बातचीत के दौरान मैंने कहा कि क्वालिफिकेशन में वह हमेशा पीछे थे लेकिन उन्होंने हर समय अपने गुरु के शब्दों को याद किया.
  • दीपक साल 2004 से निशानेबाज रहे हैं लेकिन उन्होंने पिछले साल ही भारतीय टीम के लिए खेलना शुरू किया.
  • अपनी जीत के बाद दीपक ने अपने दोस्त रवि के बारे में दार्शनिक अंदाज में कहा, जब हम शूटिंग कर रहे होते हैं तो हम किसी चीज के बारे में नहीं सोचते. हम ना केवल गहरे दोस्त हैं बल्कि एक साथ बहुत सारा समय बिताते है.
Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close