National

भारतीय सरकार का आदेश: Whatsapp को भारतीय कानूनों का पालन करना होगा

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बीते मंगलवार को एक बैठक के दौरान बताया कि हाल ही में व्हाट्सएप (Whatsapp) ने भारत सरकार को आश्वासन दिया है कि वह फर्जी संदेशों की समस्या का मुकाबला करने के लिए एक ऐसा उपकरण विकसित करेंगे, जो जमाव जैसे अपराधों को होने से रोकेगा. व्हाट्सएप के सीईओ क्रिस डेनियल के साथ एक बैठक के बाद रविशंकर प्रसाद ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उन्होंने व्हाट्सएप के सीईओ को बैठक के दौरान किसी भी “भयावह” संदेशों की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए system विकसित करने के लिए कहा था. 

बैठक के दौरान क्रिस ने बताया कि वह फर्जी संदेशों को रोकने के लिए एक नई तकनीक पर काम कर रहे हैं. ऐसे में रविप्रसाद ने जवाब देते हुए कहा कि:

 ” फर्जी संदेश को ढूंढने के लिए किसी रॉकेट विज्ञान की आवश्यकता नहीं है”.

इसी बीच रविशंकर ने कहा कि व्हाट्सएप कंपनी को भारतीय कानूनों का पालन करना होगा और देश में कॉर्पोरेट उपस्थिति स्थापित करनी होगी. 

अपने इंटरव्यू के दौरान रविशंकर जी ने बताया कि उनकी व्हाट्सएप के साथ हुई बैठक काफी उत्पादक रही. उन्होंने व्हाट्सएप की सराहना करते हुए कहा कि आज केरल में बाढ़ की स्तिथि में लोगों को राहत पहुँचाने के लिए व्हाट्सएप काफी सहयोग दे रहा है.  प्रसाद ने बताया कि व्हाट्सएप पर ऐसे बहुत सारे सन्देश शेयर किये जाते हैं जो पोर्नोग्राफी या अपराध को बढ़ावा देते हैं ऐसे में कंपनी को उन संदेशों पर रोक लगाने की सख्त अव्य्श्कता है. 

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close