National

UIDAI टोल फ्री नंबर मामला: UIDAI ने कहा बस अब बहुत हुआ इस पर विवाद 

जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि पिछले हफ्ते UIDAI की अवहेलना के चलते बहुत सारे लोगों के एंड्राइड मोबाइल फोन में टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर पाया गया थाजिसके चलते UIDAI पर ये आरोप लगाए जा रहे थे कि वह लोगों का पर्सनल डाटा चुराते हैं। 

वहीँ दूसरी और घटना के कुछ ही समय बाद Google ने यह साफ तौर पर स्पष्ट किया था कि अनजाने में उनसे Android के सेटअप में प्री प्रोग्राम था जिसके कारण यह नंबर सब के फोन में मौजूद है। Google ने कहा कि वह बहुत जल्द इस स्थिति को ठीक कर देगा ऐसे में जो लोग इन नंबर को अपने एंड्राइड फ़ोन से हटाना चाहते हैं, वह उसे आसानी से डिलीट कर सकते हैं.

वहीं दूसरी और रविवार को ही UIDAI ने मीडिया को एक बयान जारी किया कि उनके नंबर द्वारा डाटा चोरी करने से कोई लेना-देना नहीं है। UIDAI ने ट्विटर पर ट्वीट के दौरान बताया कि इन नंबर्स का फोन में चले जाना गूगल की गलती से हुआ था। इसी दौरान उन्होंने बताया कि गूगल की यह गलती लोगों के अंदर आधार के खिलाफ डर का माहौल बना रही है ऐसे में UIDAI इन सब चीजों की कढ़ी निंदा करता है.

UIDAI ने अपने बयान में कहा कि गूगल जैसा सर्च इंजन लोगों के दिलों में आधार के लिए डर पैदा कर रहा है। अथॉरिटी ने बताया कि यह सिर्फ हेल्पलाइन नंबर है जो कि आउटडेटेड है और यह किसी को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचा सकता। इसके इलावा अथॉरिटी ने बताया कि कोई भी मोबाइल नंबर डाटा को चोरी नहीं कर सकता।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको  बता दें कि UIDAI आधार कार्ड की अथॉरिटी है जो कि भारत देश में रहने वालों को उनकी पहचान बताता है। यह आधार कार्ड अब हर सरकारी काम से लेकर प्राइवेट संस्थायों में अनिवार्य है। ऐसे में हेल्पलाइन नंबर से डाटा चोरी नहीं किया जा सकता। यदि आपके फोन में भी इस अथॉरिटी का नंबर शामिल है तो आप अपने चयन अनुसार इसको फोन से डिलीट भी कर सकते हैं।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close