National

आखिरकार 36 सालों बाद इस भारतीय को मिली पाकिस्तानी जेल से रिहाई, अब भारत के साथ मनायेंगे आज़ादी का जश्न

नई दिल्ली: जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि आज पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है. इसी के चलते पाकिस्तानी सरकार ने सद्भावना दिखाते हुए 30 भारतीय कैदियों को रिहा करने की ठानी है और आज उन्हें वाघा बॉर्डर भेजा जा रहा है. इन्ही कैदियों में से गजानंद शर्मा नामक एक राजस्थानी व्यक्ति भी शामिल हैं जो कि पिछले 36 सालों से पाकिस्तान की जेल में जिंदगी बिता रहे थे. इन भारतीय कैदियों में अन्य 27 कैदी मछवारे हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने एक बयान में कहा कि कैदियों की रिहाई मानवीय मुद्दों का राजनीतिकरण नहीं करने की पाक नीति के अनुरूप की गई है.

तीज बना खुशियों का त्यौहार

इन कैदियों में से गजानंद शर्मा की पत्नी मखनी देवी के लिए आज का दिन खुशियों का समंदर बन गया. तीज के इस मौके पर जब जयपुर की रहने वाली मखनी देवी ने अपने पति को हिंदुस्तान की सरज़मी पर कदम रखते हुए देखा तो वह फूट फूट कर रो पड़ी. दरअसल मखनी देवी को पता भी नहीं था कि उसका पति अभी तक जिंदा है और पाकिस्तान की जेल में बंद है. लेकिन सोमवार की दोपहर जब वह टीवी देख रही थी तो एक न्यूज़ चैनल पर कैदियों की रिहाई की ख़बर उसके कानों में पड़ी. तभी कैमरा के सामने उसको अपना खोया हुआ पति नज़र आ गया. अपने पति को आंखों के सामने देखकर वह अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाई और फफक फफक कर रोने लगी. एक टीवी चैनल के इंटरव्यू के दौरान मखनी देवी ने बताया कि वह इतने साल बाद भी अपने पति को पहचान सकती हैं.

पति काफी दुबले हो गए हैं

Prisoner released Pakistan Jail after 36 years

जयपुर के ब्रह्मपुरी इलाके में परिवार के साथ रहने वाली मखनी देवी ने जब टीवी चैनलों पर अपने पति गजानंद शर्मा को भारत लौटते हुए देखा तो मैंवह खुशी से झूम उठी. मखनी ने संवाददाताओं से कहा कि, “आज मैंने काफी सालों बाद अपने पति को देखा. वह बिल्कुल नहीं बदले लेकिन, अब वह पहले से कई गुना दुबले पतले हो गए हैं.” पत्नी मखनी देवी ने बताया कि जब वह घर से लापता हुए थे तो वह पूरी तरह से स्वस्थ थे लेकिन अब वह काफी कमजोर दिख रहे हैं और ठीक से चल भी नहीं पा रहे. आपको बता दें कि हरियाली तीज को भगवान शिव एवं देवी पार्वती के मिलन का उत्सव भी कहा जाता है. ऐसे में यह उत्सव मखनी देवी के लिए इतनी सारी खुशियाँ लेकर आएँगी, ऐसा उसने सपने में भी नहीं सोचा था.

 

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close