International

नस्लीय हिंसा के चलते अमेरिका में एक सिख पर हुआ हमला, कहा-“भारत वापिस लौट जाओ…”

अमेरिका: इन दिनों लोगों के अंदर नस्लीय भावना लगातार बढती देखने को मिल रही है. जात-पात और धर्म के भेद भाव के चलते आए दिन किसी ना किसी भारतीय को अंग्रेजों की अ का सामना करना पड़ रहा है. वहीँ हाल ही में अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य में नस्ली हमले का एक और मामला सामने आया है. यहां के रहने वाले दो युवकों ने एक 50 वर्षीय सिख के साथ नस्लीय भेदभाव के चलते मारपीट की और साथ ही अपशब्द भी बोले. इन श्वेत लोगों ने कहा कि, ” यहां से वापस अपने मुल्क लौट जाओ, यहां तुम्हारा कोई स्वागत नहीं है”। घटना के बाद पीड़ित युवक ने मामले की शिकायत पुलिस को करती है जिसके बाद से ही पुलिस ने हेट क्राइम का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। पुलिस रिपोर्ट की मानें तो यह पूरी घटना पिछले हफ्ते कैलिफोर्निया के केयेस और फूटे रोड के चौराहे की है।

गाली गलौच के साथ की मारपीट

टॉम लेट्रोज़ के अनुसार 50 वर्षीय परीक्षित को इसलिए मारा गया क्योंकि वह स्थानीय उम्मीदवार के प्रचार के लिए फुटे रोड पर पोस्टर लगा रहा था। तभी अचानक वहां काले रंग के कपड़े पहने दो श्वेत युवकों ने उस पर हल्ला बोल दिया। सिख युवक के अनुसार दोनों युवकों ने उसे जमीन पर गिरा कर उसके साथ मारपीट की और साथ ही उसको गंदी गंदी गालियां दी। वहीं अमेरिका की पुलिस के अनुसार यह एक घिनोना अपराध है और वह हमलावरों को जल्द से जल्द भूलने की कोशिश कर रहे हैं।

पहले रॉड से किया हमला

Facebook में शेयर की गई एक पोस्ट के अनुसार कहा जा रहा है कि दोनों युवकों ने पीड़ित सिक्के सर पर रॉड से हमला किया था। जिसके चलते वह बेसुध होकर जमीन पर गिर गया। हालांकि पगड़ी होने की वजह से युवक को ज्यादा चोट नहीं आई परंतु लोगों द्वारा उसे एंबुलेंस से तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया। फेसबुक की इस पोस्ट में एक पिकअप ट्रक की तसवेव्र भी डाली गई है जिसके कैप्शन में लिखा गया है कि “हमारे देश से वापस जाओ”। लेट्रोज़ के अनुसार ।पीड़ित की पहचान अभी गुप्त रखी जा रही है।

बताया जा रहा है कि जिस जगह पीड़ित युवक पर हमला किया गया वहां सिखों की सबसे बड़ी आबादी रहती है यह वही जगह है जहां अमेरिका का सबसे पुराना गुरुद्वारा मौजूद है जिसे 1912 में खोला गया था।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close