International

पाकिस्तानी अख़बार का दावा: पाकिस्तान में है सबसे बड़ा तेल का भंडार

पाकिस्तान के समुद्री और विदेशी मामलो के मंत्री अब्दुल्ला हुसैन हारून ने हाल ही में फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FPCCI) की सभा के दौरान इस बात का खुलासा किया कि जाने माने संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की तेल और गैस फर्म “एक्क्सन मोबिल”, पाकिस्तान और ईरान की सीमा के पास विशाल तेल भंडार की खोज कर रही हैं, जो कि कुवैती भंडार से भी बड़ी हो सकती है।

पाकिस्तानी वेबसाइट का लिंक

दरअसल, हाल ही में अरब न्यूज़ ने एक बड़ा खुलासा किया जिसमें उन्होंने बताया कि यदि संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की तेल फर्म पाकिस्तान और कुवैत सीमा से अपेक्षा से बढ़कर तेल निकालने में कामयाब हो जाती है तो पाकिस्तान 10 बड़ी ऑयल बनाने वाले देशों में से एक गिना जाएगा जबकि कुवैत अभी इस मामले में छठे स्थान पर मौजूद है।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि कुवैत के तेल भंडार दुनिया में तेल भंडार का 8.4% तेल बनाते हैं। कुवैत का यह दावा है कि वह अपने बनाए हुए तेल के 101.50 बिलियन बैरल सऊदी कुवैत के साथ साझा करते आये हैं। मंत्री अब्दुल्ला हुसैन हारुन के अनुसार अमेरिका की कंपनी Exxon Mobil अब तक की ईरानी सीमा के करीब 5000 मीटर तक ड्रिल कर चुकी है और उनका ये दावा है कि बहुत जल्द उन्हें पर्याप्त मात्रा में तेल मिल जाएगा।

इसके इलावा उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सरकार इस अमेरिकी कंपनी से 10 अरब डॉलर पीढ़ी के परिषद की स्थापना के लिए पहले से ही ले चुकी है। उन्होंने कहा कि:

” विदेशी निवेशक पाकिस्तान आने में रुचि रखते हैं बशर्ते हम अपनी मानको को पूरा करने और में निवेश करने के लिए आकर्षित करते हैं।”

अब्दुल्ला हुसैन ने बताया कि कराची बंदरगाह और अन्य बंदरगाहों को एकत्रित करने की आवश्यकता पर अमेरिकी कंपनी ज़ोर दे रही है।

मई 2018 में Exxon Mobil ने पाकिस्तान में ऑफशोर ड्रिलिंग में 25% हिस्सेदारी हासिल की थी। इसी बीच प्रधानमंत्री सचिवालय ने Exxon Mobil, सरकारी होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड, पीपीएल, एनआई तेल और गैस विकास निगम के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस समझौते ने अन्य साझेदार कंपनियों के ड्रिलिंग हिस्से को 25% तक घटा दिया है।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

 

Close